Header Ads Widget

मोबाइल डेटा कैसे साझा करें और इसके लिए क्या आवश्यकता है | How To Share Mobile Data

मोबाइल डेटा कैसे साझा करें और इसके लिए क्या आवश्यकता है | How To Share Mobile Data. पहले के फोन में किसी भी डेटा को साझा करना इतना आसान नहीं था. यह उन दिनों की बात है जब हमें डेटा शेयर करने के लिए लंबे समय तक इंतजार करना पड़ता था. हम फाइल शेयर करने के लिए लंबे समय तक मोबाइल फोन hold करके रखते थे. एक समय था जब मेरे पास नोकिया का फोन था और मैं अपनी दुकान में बैठा करता था. कई लोग मेरे पास आया करते थे, वे मुझसे गाने, वॉलपेपर, रिंगटोन, स्क्रीनसेवर्स, गेम्स, वीडियो के लिए पूछते थे. मैं ब्लूटूथ की मदत से उन्हें data को शेयर कर देता था. कुछ लोग अलग-अलग फोन होने पर इंफ्रारेड की मदत से भी मुझसे डाटा को लिया करते थे.

How To Share Mobile Data

मोबाइल से किसी भी file data को दूसरे मोबाइल में ट्रांसफर करने के लिए उसमे Bluetooth खोलना पड़ता था. इसके अलावा, जिनके मोबाइल मैं इंफ्रा रेड हुआ करता था, उसमे केवल इंफ्रारेड मोबाइल से ही डाटा ट्रांसफर किया जाता था. जैसा कि आप सभी जानते हैं कि ब्लूटूथ से डाटा ट्रांसफर करने के लिए दोनों मोबाइल्स को पास-पास होने की जरुरत नहीं है. लेकिन infrared मोबाइल से डाटा ट्रांसफर करने पर दोनों मोबाइल्स को एक साथ इंफ्रारेड surface को छूकर ही डाटा ट्रांसफर होता है. अगर दोनों मोबाइल थोड़ा हिला जाएँ तो डाटा sharing कैंसिल हो जाती थी. फिर दोबारा से आमने-सामने कनेक्ट कर  ही एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल में थोड़ा डाटा भेजा जाता था.

आइए जानते हैं कि हम कैसे डेटा ट्रांसफर कर सकते हैं और यह कैसे होता है

जब हम अपने मोबाइल से किसी व्यक्ति की pic ले लेते हैं और हम कहते हैं कि दूसरा व्यक्ति भी इसे देख सकता है अपने मोबाइल या किसी अन्य डिवाइस पर, तो हम उसे वापस share करते हैं. आज यह बहुत आसान हो गया है कि हम किसी भी फाइल, सांग, डाटा, फोटो को आसानी से किसी के साथ शेयर कर सकते हैं. जब हमारे मोबाइल की memory भी फुल हो जाती है और हम इसे कंप्यूटर में डालने के लिए कहते हैं, फिर डाटा केबल की मदत से हम अपने मोबाइल को कंप्यूटर से कनेक्ट कर फोन का डाटा कॉपी या मूव कर सकते हैं. और हम अपने फोन की स्क्रीन पर साझा करने की processing देख सकते हैं की कितनी फाइलें ट्रांसफर हुई हैं और कितनी बची हैं.

आज के समय में कुछ नए स्मार्टफोन टच स्क्रीन शेयरिंग apps आ गए हैं, जिसकी वजह से हम किसी भी फाइल डाटा, गेम्स, वॉलपेपर को आसानी से ट्रांसफर कर सकते हैं. इनमें से कुछ ऐप्स के names हैं शेयरिट, एक्सेंडर, शेयरमे, पोर्टल. उनकी मदत से हम फाइल को बहुत तेजी से और सुरक्षित रूप से ट्रांसफर कर सकते हैं. इसमें गड़बड़ी की भी कोई सम्भावना नहीं है. कुछ social apps भी हैं जिनका उपयोग फाइलों को बहुत आसानी से साझा करने के लिए किया जाता है. आप इन सोशल एप्स फेसबुक, व्हाट्सएप, जीमेल, इंस्टाग्राम, पिंट-रेस्ट के जरिए फोटो, वीडियो, ऑडियो आदि शेयर कर सकते हैं तबतक जबतक आपके मोबाइल नेटवर्क ठीक से आ रहें होंगे.

अब पहले की तरह मोबाइल फोन की क्षमता भड़ चुकी है, जिसे कोई भी स्मार्टफोन पहले की तुलना में ज्यादा डाटा स्टोर और शेयर कर सकता है. जिसका असर उस फोन की बैटरी पर भी पड़ता है और उसकी life लंबे समय तक बानी रहती है. इंटरनेट की मदत से कोई भी व्यक्ति कुछ भी शेयर कर सकता है. इंटरनेट से चल रहे इन स्मार्टफोन apps ने इसे करना और भी आसान कर दिया है. लेकिन कुछ फाइलें ऐसी हैं, जिन्हें आज भी ट्रांसफर करना मुश्किल है. जैसे scan की गई टेक्स्ट फाइलें, पीडीएफ फाइलें और अन्य. अगर आपका फ़ोन एडवांस फाइल्स support नहीं करता तो उसमें स्कैन की गई फाइल को transfer करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है.

कैसे हम किसी भी आधिकारिक फाइल डेटा को साझा कर सकते हैं

कुछ महत्वपूर्ण फाइलों को साझा करने के लिए फाइल मैनेजर ऐप जैसे ऐप्स का उपयोग किया जाता है. जैसे मोबाइल games के लिए resource file भेजना. डेटा को एमएस-वर्ड, एक्सेल फाइल्स और अन्य आधिकारिक फाइलों में भी  स्थानांतरित किया जा सकता है. 

जब हम मोबाइल से कंप्यूटर में, डेटा share करते हैं तो हम अपने कंप्यूटर में drives फ़ाइलों पर जाते हैं जहाँ पर mobile ड्राइव में एक नई डिस्क बन जाती है. यह (E) ड्राइव या (D) ड्राइव में "local disk"  के नाम से होती है. दो मोबाइल के बिच में भी हॉटस्पॉट का उपयोग करके फाइल share की जा सकती है. इसके लिए भेजने वाले को अपना मोबाइल फोन का hot-spot चालू करना होगा. इसके बाद जो व्यक्ति डाटा प्राप्त करना चाहता है, वह वाईफाई से कनेक्ट होकर डाटा प्राप्त कर सकता है. अगर आपके मोबाइल में वाईफाई नहीं है तो आप फाइल रिसीव नहीं कर सकते. शेयर IT app की मदत से हम दो मोबाइल के बीच कई फाइल भेज सकते हैं.

यदि हम लैपटॉप में पूरा मोबाइल डेटा साझा या स्थानांतरित करते हैं तो व्हाट्सएप डेटा share नहीं किया जाता है. क्योंकि सिर्फ फोन का डाटा शेयर या ले जाया जाता है. ऐसे कुछ अन्य प्रकार के डेटा ट्रांसफर भी हैं.-

• अपने contacts एयरटेल sim में जियो फोन सिम का डाटा शेयर करने के लिए, पहले फोन में जियो sim का डाटा कॉपी करें, फिर एयरटेल सिम लें और फोन के डाटा को उसमें move करें.

• अगर आपके फोन की एलसीडी स्क्रीन टूटी हुई है, तो कंप्यूटर से कनेक्ट करके भी आप यूएसबी केबल का इस्तेमाल कर डेटा ट्रांसफर कर सकते हैं. अगर आपको USB केबल का इस्तेमाल कर local मोबाइल में डाटा ट्रांसफर करने में परेशानी हो रही है तो ऐसा हो सकता है कि आपके फोन का jack खराब हो और यूएसबी केबल भी खराब हो सकती है.

• आप शेयर IT ऐप में ब्लूटूथ खोले बिना भी फाइल शेयरिंग कर सकते हैं. कीपैड फोन में आप memory कार्ड या इंफ्रारेड की मदत से फाइल्स को बहुत तेजी से शेयर कर सकते हैं.

Conclusion [ निष्कर्ष ]

अब फाइल शेयरिंग बहुत तेजी से होने लगी है और इससे काफी समय भी बचत होती है, स्मार्टफोन की रैम के कारण शेयरिंग स्पीड भी बदलती रहती है और फोन processor ज्यादा होने पर भी फाइल शेयरिंग काफी तेज रफ्तार से की जा सकती है. आपके साथ-साथ आपके फोन भी स्मार्ट हो गए हैं क्योंकि इंटरनेट होने से आप सिर्फ एक बटन दबाकर कुछ ही seconds में दुनिया से कोई भी वीडियो, ऑडियो या कोई भी चीज शेयर कर सकते हैं. यदि आपको यह लेख पसंद है, तो आप भी इसे बहुत साझा करे और हमारी वेबसाइट को फॉलो करें.

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां